आगामी आयोजन

 वन अनुसंधान केंद्र - इको-पुनर्वास, प्रयागराज द्वारा 20 अक्टूबर, 2020 को प्रातः 10:00 बजे से आयोजित "वानिकी उद्यमों के माध्यम से आजीविका सुरक्षा के संवर्धन पर प्रौद्योगिकी प्रसार का प्रभाव" विषय पर वेबिनार  updated: 19 October 2020

 पारि-पुनर्स्थापन वन अनुसंधान केंद्र , प्रयागराज में २५ सितंबर, २०२० को "कृषि वानिकी में शोध एवं नवाचार परिदृश्य" विषय पर राष्ट्रीय वेब संगोष्ठी का आयोजन किया जायेगा   updated: 24 September 2020

 वन अनुसंधान केंद्र - इको-पुनर्वास, प्रयागराज में हिंदी दिवस ​​के अवसर पर २५ सितम्बर, २०२० को "कृषि वानिकी में अनुसंधान और नवाचार परिदृश्य" विषय पर राष्ट्रीय वेब संगोष्ठी का आयोजन किया जायेगा   updated: 10 September 2020

 आई.एफ.जी.टी.बी. कोयम्बटूर और पसुमई विकटन द्वारा संयुक्त रूप से ०५ जून से २६ जून, २०२० के दौरान "कृषि आय बढ़ाने के लिए वृक्ष संवर्धन कार्यप्रणालियों" विषय पर ऑनलाइन सत्र का आयोजन किया जायेगा   updated: 03 June 2020

 वन अनुसंधान संस्थान, देहरादून में 2020 में लघु अवधि के प्रशिक्षण पाठ्यक्रम का कैलेंडर  updated: 24 January 2020

भा.वा.अ.शि.प. के संस्थानों द्वारा अद्यतन

 वन अनुसंधान संस्थान, देहरादून के आईटी और जीआईएस अनुशासन द्वारा आयोजित "वानिकी अनुसंधान के लिए अग्रिम कम्प्यूटेशनल उपकरण के अनुप्रयोग" पर वेबिनार कार्यक्रम पर एक रिपोर्ट  व.अ.सं.:   21 October 2020

 वन उत्पाद प्रभाग, वन अनुसंधान संस्थान, देहरादून द्वारा आयोजित “जैव-सम्मिश्र: लकड़ी और लकड़ी आधारित सामग्री” पर वेबिनार कार्यक्रम पर एक रिपोर्ट  व.अ.सं.:   21 October 2020

 २० अक्टूबर, २०२० को वन जैवविविधता संस्थान (IFB), हैदराबाद द्वारा “औषधीय पौधों और कोविद-१९ महामारी में उनकी प्रासंगिकता” विषय पर आयोजित वेबिनार कार्यक्रम पर एक रिपोर्ट   व.जै.सं.:   21 October 2020

 वन अनुसंधान केंद्र - इको-पुनर्वास, प्रयागराज द्वारा आयोजित वेबिनार "कृषि वानिकी में अनुसंधान और नवाचार परिदृश्य" विषय पर पर एक रिपोर्ट  व.अ.कें. ई.पु.:   19 October 2020

 "आजीविका सहायता और आर्थिक विकास के लिए वन और वन उत्पादों का प्रबंधन" थीम के तहत "उत्तर पश्चिमी हिमालय के बुरांश- विविधता, आर्थिक मूल्य और जलवायु परिवर्तन का प्रभाव" विषय पर 30 सितंबर, २०२० को • हिमालयन वन अनुसंधान संस्थान, शिमला में आयोजित मासिक संगोष्ठी पर एक रिपोर्ट   हि.व.अ.सं.:   19 October 2020

 १५ अक्टूबर २०२० को वन आनुवंशिकी एवं वृक्ष प्रजनन संस्थान, कोयम्बटूर में आयोजित अनुसंधान सलाहकार समूह (आरएजी) की बैठक पर एक रिपोर्ट  व.आ.वृ.प्र.सं.:   19 October 2020

 वन जैवविविधता संस्थान, हैदराबाद द्वारा ५ से ६ अक्टूबर , २०२० के दौरान आयोजित वानिकी अनुसंधान में सांख्यिकीय विधियों पर प्रशिक्षण कार्यक्रम पर एक रिपोर्ट  व.जै.सं.:   16 October 2020

 वन उत्पादकता संस्थान, रांची द्वारा कंप्यूटर अनुप्रयोग विषय पर 07.10.2020 से 09.10.2020 के दौरान आयोजित तीन दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम पर एक रिपोर्ट   व. उ. सं.:   16 October 2020

 महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के उपलक्ष्य में 2 अक्टूबर, 2020 को एफआरआई और कांवली गार्डन के न्यू फॉरेस्ट कॉलोनी के आवासीय क्षेत्र में आयोजित किये गए स्वच्छता अभियान पर एक रिपोर्ट  व.अ.सं.:   16 October 2020

 ३० सितंबर २०२० को "भारत में औद्योगिक सुधार और स्थिति के लिए बायोप्रोस्पेक्टिंग" विषय पर वन जैवविविधता संस्थान, हैदराबाद द्वारा आयोजित मासिक सेमिनार पर एक रिपोर्ट  व.जै.सं.:   16 October 2020

 हिमालयन वन अनुसंधान संस्थान, शिमला द्वारा २३ से २५ सितंबर, २०२० के दौरान भारतीय वानिकी अनुसंधान एवं शिक्षा परिषद के तकनीकी कर्मचारियों के लिए "खाद बनाने की तकनीक" विषय पर आयोजित तीन दिनों के प्रशिक्षण एवं प्रदर्शन कार्यक्रम पर एक रिपोर्ट   हि.व.अ.सं.:   15 October 2020

 एक रिपोर्ट वन उत्पादकता संसथान, रांची द्वारा मानव संसाधन विकास कार्यक्रम के अंतर्गत तीन दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम ७ अक्टूबर २०२० से ९ अक्टूबर २०२० का आयोजन  व. उ. सं.:   15 October 2020

 वन अनुसंधान केंद्र - इको-पुनर्वास, प्रयागराज में १४ सितंबर २०२० से २८ जुलाई २०२० तक हिंदी पखवाड़े के आयोजन पर एक संक्षिप्त रिपोर्ट  व.अ.कें. ई.पु.:   14 October 2020

 २८ सितंबर, २०२० को वन आनुवंशिकी एवं वृक्ष प्रजनन संस्थान, कोयम्बटूर में "दावानल - पारिस्थितिकी और प्रबंधन" विषय पर आयोजित वेबिनार पर एक रिपोर्ट  व.आ.वृ.प्र.सं.:   13 October 2020

 हिमालयन वन अनुसन्धान संस्थान, शिमला द्वारा वन्यजीव सप्ताह-२०२० (०२ अक्तूबर से ०८ अक्तूबर २०२०) के आयोजन पर एक रिपोर्ट   हि.व.अ.सं.:   13 October 2020

और पढ़ें

भा.वा.अ.शि.प.की प्रौद्योगिकी

  जूनीपेरस पॉलीकार्पस (हिमालयन पेन्सिल सीडार) की बीज प्रौद्योगिकी

जुनिपेरस पाॅलीकार्पोस, सी.कोच उत्तर पश्चिम हिमालयन क्षेत्र का एक महत्वपूर्ण देशज शंकु वृक्ष है, जिसे सामान्यतः हिमालयन पेंसिल सिडार के नाम से जाना जाता है। इस प्रजाति के बीजों में प्रसुप्ति होती है, जो इसके अंकुरण को प्रभावित करती है। 

  कुटकी बहुगुणन हेतु वृहद-प्रसार तकनीक

पिकोरिजा कुरूआ, रायल एक्स बेंथ जिसे सामान्यतः कुटकी के नाम से जाना जाता है, यह पश्चिमी हिमालय में पाया जाना महत्वपूर्ण शीतोष्ण औषधी पादप है, जिसकी उच्च शीतोष्ण क्षेत्रों (2700 मी. से ऊपर) में वाणिज्यिक कृषि हेतु महत्वपूर्ण संभाव्यता है।

  मुशाकबला बहुगुणन हेतु बृहद-प्रसार तकनीक

वैलरियाना जटामांसी, जोन्स जिसे सामान्यतः मुशाकबला के नाम से जाना जाता है, यह पश्चिमी हिमालय में पाया जाने वाला एक महत्वपूर्ण शीतोष्ण औषधी पादप है तथा वाणिज्यिक कृषि हेतु महत्वपूर्ण संभाव्यता रखता है।

  देवदार निष्पत्रक (एक्ट्रोपिस देवदारे प्राउट) का एकीकृत कीट प्रबंधन

देवदार (सिडेरस देओदारा), उत्तर-पश्चिम हिमालय का एक अति मूल्यित एवं बहुल शंकु प्रजाति है, यह कुछ अंतरालों पर निष्पत्रक, इक्ट्रोपिस देओदारी प्राउट (लेपीडोप्टेरा: जिओमैट्रिडि) से प्रभावित होता है। यह प्रमुख नाशी-कीट देवदार वनों की अल्पवयस्क फसलों को गम्भीरता से प्रभावित करता है।

  बागवानी रोपण के साथ शीतोष्ण औषधीय पादपों का अंतरफसलीकरण

उच्च पहाड़ी शीतोष्ण क्षेत्रों के बागानों में अंतरालों का बेहतर उपयोजन किया जा सकता है तथा चुनिंदा वाणिज्यिक रूप से महत्वपूर्ण औषधीय पादपों के अंतरफसलीकरण से बागानों द्वारा आर्थिक लाभ की वृद्धि की जा सकती है।

Untitled Document