आगामी आयोजन

 वानिकी सांख्यिकी विभाग, भारतीय वानिकी अनुसंधान एवं शिक्षा परिषद, देहरादून द्वारा 17-21 जनवरी, 2022 तक "आर-सॉफ्टवेयर के माध्यम से सांख्यिकीय तरीके और डेटा विश्लेषण" पर प्रशिक्षण पाठ्यक्रम का स्थगन  updated: 14 January 2022

 रसायन विज्ञान और जैव पूर्वेक्षण प्रभाग, एफआरआई, देहरादून आपको 28 जनवरी 2022 को जीसी और जीसी-एमएस तकनीकों पर एक आभासी कार्यशाला के लिए आमंत्रित करता है  updated: 10 January 2022

 वानिकी सांख्यिकी विभाग, भारतीय वानिकी अनुसंधान एवं शिक्षा परिषद, देहरादून द्वारा 17-21 जनवरी, 2022 तक "आर-सॉफ्टवेयर के माध्यम से सांख्यिकीय तरीके और डेटा विश्लेषण" पर प्रशिक्षण पाठ्यक्रम  updated: 22 November 2021

 वर्षा वन अनुसंधान संस्थान, जोरहाट (असम) नवंबर, 2021 से मार्च, 2022 तक बांस शूट प्रसंस्करण और मूल्य संवर्धन पर कौशल विकास प्रशिक्षण आयोजित कर रहा है।  updated: 08 November 2021

 वर्षा वन अनुसंधान संस्थान, जोरहाट (असम) 21 दिसंबर 2021 से मार्च 2022 तक अगरवुड खेती और कृत्रिम टीकाकरण पर प्रशिक्षण आयोजित कर रहा है।  updated: 08 November 2021

 वन आनुवंशिकी एवं वृक्ष प्रजनन संस्थान, कोयम्बटूर में वन जेनेटिक रिसोर्सेज एंड ट्री इम्प्रूवमेंट पर एनविस रिसोर्स पार्टनर नवंबर 2021 से जनवरी 2022 के दौरान निम्नलिखित हरित कौशल विकास कार्यक्रमों की पेशकश कर रहा है  updated: 07 October 2021

 वन अनुसंधान संस्थान, देहरादून के वर्ष २०२१ -२२ के लिए लघु अवधि प्रशिक्षण पाठ्यक्रम कैलेंडर  updated: 19 May 2021

भा.वा.अ.शि.प. के संस्थानों द्वारा अद्यतन

 वन उत्पादकता संस्थान, रांची में विश्व हिंदी दिवस -2022 के उत्सव पर एक रिपोर्ट  व. उ. सं.:   14 January 2022

 आजादी का अमृत महोत्सव के तहत वन उपज/लाख की भूमिका के लिए आईएफपी, रांची द्वारा आयोजित कार्यक्रम पर एक रिपोर्ट  व. उ. सं.:   11 January 2022

 आजादी का अमृत महोत्सव के तहत ग्रामीणों को औषधीय पौधे के वितरण के लिए आईएफपी, रांची द्वारा आयोजित कार्यक्रम पर एक रिपोर्ट  व. उ. सं.:   11 January 2022

 वन जैव विविधता संस्थान , हैदराबाद में 30.12.2021 को भारत की नदियों का उत्सव मनाने पर एक रिपोर्ट  व.जै.सं.:   06 January 2022

 वन अनुसंधान केंद्र - इको-पुनर्वास, प्रयागराज द्वारा 24 से 26 दिसंबर, 2021 तक गोरखपुर उत्तर प्रदेश में आजादी का अमृत महोत्सव के तहत आविष्कार फाउंडेशन द्वारा आयोजित प्रदर्शनी "उज्ज्वल उत्तर प्रदेश गोरखपुर, 2021: मेगा प्रदर्शनी" में प्रदर्शनी स्टाल आयोजित   व.अ.कें. ई.पु.:   05 January 2022

  वन आनुवंशिकी और वृक्ष प्रजनन संस्थान, कोयंबटूर के एनविस रिसोर्स पार्टनर द्वारा दो हरित कौशल विकास कार्यक्रम (जीएसडीपी) के तहत आनुवंशिक संसाधन और वृक्ष सुधार कार्यक्रम संपन्न हुआ  व.आ.वृ.प्र.सं.:   03 January 2022

 नगर राजभाषा कार्यान्वयन समिति की राजभाषा चल शील्ड २०२१ में हिंदी प्रयोग प्रसार हेतु उष्णकटिबंधीय वन अनुसन्धान संस्थान, जबलपुर द्वितीय पुरस्कार से सम्मानित   उ.व.अ.सं.:   03 January 2022

 बीएससी प्रथम वर्ष और द्वितीय वर्ष के 87 छात्रों का समूह, मंगलायतन विश्वविद्यालय, जबलपुर के कृषि संकाय ने 27 दिसंबर, 2021 को उष्ण कटिबंधीय वन अनुसंधान संस्थान, जबलपुर का दौरा किया  उ.व.अ.सं.:   29 December 2021

  वन उत्पादकता संस्थान, रांची द्वारा आयोजित 9 दिसंबर 2021 को स्वच्छता : नदियों की सफाई के लिए सामुदायिक भागीदारी पर एक रिपोर्ट  व. उ. सं.:   29 December 2021

  वन उत्पादकता संस्थान, रांची द्वारा 9 दिसंबर 2021 को आजादी का अमृत महोत्सव के तहत औषधीय पौधों की उपलब्धता के लिए ग्रामीणों में आयोजित जागरूकता प्रशिक्षण पर एक रिपोर्ट  व. उ. सं.:   29 December 2021

 वन आनुवंशिकी एवं वृक्ष प्रजनन संस्थान,कोयम्बटूर ने 27 दिसंबर 2021 को सुशासन सप्ताह के अवसर पर "कार्यस्थल पर नैतिकता और मूल्य" पर एक विशेष व्याख्यान का आयोजन किया  व.आ.वृ.प्र.सं.:   29 December 2021

 वन उत्पादकता संस्थान, रांची में 3 दिसंबर 2021 को आयोजित आजादी का अमृत महोत्सव के तहत औषधीय पौधों की खेती और मूल्यवर्धन पर एक प्रशिक्षण रिपोर्ट  व. उ. सं.:   29 December 2021

 उष्णकटिबंधीय वन अनुसंधान संस्थान, जबलपुर ने 16 दिसंबर, 2021 को "गैर-इमारती वन उपज (एनटीएफपी) के मूल्य संवर्धन और विपणन" पर एक दिवसीय राष्ट्रीय सम्मेलन आयोजित किया  उ.व.अ.सं.:   28 December 2021

 वन जैव विविधता संस्थान (आईएफबी), हैदराबाद में 23.12.2021 को सुशासन सप्ताह समारोह पर एक रिपोर्ट  व.जै.सं.:   27 December 2021

 वन जैवविविधता संस्थान, हैदराबाद में 22 दिसंबर 2021 को आयोजित "सायनोबैक्टीरियम फ्रेम्येला डिप्लोसिफॉन में प्रकाश संश्लेषक दक्षता में सुधार के लिए फोटोमोर्फोजेनेसिस" पर संगोष्ठी की एक रिपोर्ट  व.जै.सं.:   27 December 2021

और पढ़ें

भा.वा.अ.शि.प.की प्रौद्योगिकी

  जूनीपेरस पॉलीकार्पस (हिमालयन पेन्सिल सीडार) की बीज प्रौद्योगिकी

जुनिपेरस पाॅलीकार्पोस, सी.कोच उत्तर पश्चिम हिमालयन क्षेत्र का एक महत्वपूर्ण देशज शंकु वृक्ष है, जिसे सामान्यतः हिमालयन पेंसिल सिडार के नाम से जाना जाता है। इस प्रजाति के बीजों में प्रसुप्ति होती है, जो इसके अंकुरण को प्रभावित करती है। 

  कुटकी बहुगुणन हेतु वृहद-प्रसार तकनीक

पिकोरिजा कुरूआ, रायल एक्स बेंथ जिसे सामान्यतः कुटकी के नाम से जाना जाता है, यह पश्चिमी हिमालय में पाया जाना महत्वपूर्ण शीतोष्ण औषधी पादप है, जिसकी उच्च शीतोष्ण क्षेत्रों (2700 मी. से ऊपर) में वाणिज्यिक कृषि हेतु महत्वपूर्ण संभाव्यता है।

  मुशाकबला बहुगुणन हेतु बृहद-प्रसार तकनीक

वैलरियाना जटामांसी, जोन्स जिसे सामान्यतः मुशाकबला के नाम से जाना जाता है, यह पश्चिमी हिमालय में पाया जाने वाला एक महत्वपूर्ण शीतोष्ण औषधी पादप है तथा वाणिज्यिक कृषि हेतु महत्वपूर्ण संभाव्यता रखता है।

  देवदार निष्पत्रक (एक्ट्रोपिस देवदारे प्राउट) का एकीकृत कीट प्रबंधन

देवदार (सिडेरस देओदारा), उत्तर-पश्चिम हिमालय का एक अति मूल्यित एवं बहुल शंकु प्रजाति है, यह कुछ अंतरालों पर निष्पत्रक, इक्ट्रोपिस देओदारी प्राउट (लेपीडोप्टेरा: जिओमैट्रिडि) से प्रभावित होता है। यह प्रमुख नाशी-कीट देवदार वनों की अल्पवयस्क फसलों को गम्भीरता से प्रभावित करता है।

  बागवानी रोपण के साथ शीतोष्ण औषधीय पादपों का अंतरफसलीकरण

उच्च पहाड़ी शीतोष्ण क्षेत्रों के बागानों में अंतरालों का बेहतर उपयोजन किया जा सकता है तथा चुनिंदा वाणिज्यिक रूप से महत्वपूर्ण औषधीय पादपों के अंतरफसलीकरण से बागानों द्वारा आर्थिक लाभ की वृद्धि की जा सकती है।

Untitled Document